Latest News Syllabus

RPSC RAS Syllabus 2021 Detailed Syllabus, Exam Pattern Prelims And Mains Hindi & English

RPSC RAS Syllabus 2021 Detailed Syllabus, Exam Pattern Prelims And Mains Hindi & English आरपीएससी ने आरएएस भर्ती 2021 का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. इसके लिए ऑनलाइन आवेदन 4 अगस्त से 2 सितंबर 2021 तक भरे जाएंगे. अभ्यर्थी आरपीएससी आरएएस भर्ती के सलेबस और एग्जाम पैटर्न के बारे में जानने के इच्छुक हैं. इसलिए इस पोस्ट में हम आरपीएससी आरएएस भर्ती 2021 के प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के सिलेबस और एग्जाम पैटर्न के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध करवाने का प्रयास करेंगे. आरपीएससी आरएएस भर्ती 2021 की लेटेस्ट अपडेट के लिए अभ्यर्थी समय-समय पर आधिकारिक वेबसाइट को विजिट कर दे रहे.

RPSC RAS Bharti 2021 Syllabus & Exam Pattern

आरपीएससी आरएएस भर्ती 2021 की अच्छी तैयारी के लिए जरूरी है कि अभ्यर्थियों को इसके सिलेबस का पूरा ज्ञान हो. किसी भी भर्ती का सिलेबस पता होने पर उस भर्ती की तैयारी अच्छे से की जा सकती है. इसलिए हम आपको आरपीएससी आरएएस भर्ती 2021 की प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा का सिलेबस हिंदी और इंग्लिश दोनों में उपलब्ध करवा रहे हैं. आरपीएससी आरएएस भर्ती का सिलेबस और एग्जाम पैटर्न डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक हमने नीचे उपलब्ध करवा दिया है. इसके आधार पर अभ्यर्थी अपनी तैयारी जारी रख सकते हैं. अभी आरपीएससी आरएएस भर्ती 2021 का नवीनतम सिलेबस जारी हुआ है.

हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए यहां क्लिक करें : Click Here

RPSC RAS Preliminary Exam Pattern 2021

आरपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में नीचे निर्दिष्ट विषय पर एक पेपर शामिल होगा, जो वस्तुनिष्ठ प्रकार का होगा और अधिकतम 200 अंकों का होगा। पेपर का मानक स्नातक डिग्री स्तर का होगा।

  • आरपीएससी आरएएस परीक्षा की अंकन योजना
  • सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकृति के होंगे।
  • आरपीएससी आरएएस प्रारंभिक परीक्षा में कुल अंक 200 होंगे।
  • परीक्षण की अवधि 3 घंटे की होगी।
  • कुल 150 बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे (MCQ’s)
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 का नकारात्मक अंकन होगा।

Paper

Subject No. of questions Max Marks Time
1st General Knowledge and General Science 150 200

3 Hours

RPSC RAS Preliminary Exam Syllabus 2021

राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति, साहित्य, परम्परा एवं विरासत :

  • राजस्थान के इतिहास की महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं, प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक व राजस्व व्यवस्था। सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दे.
  • स्वतंत्रता आन्दोलन, जनजागरण व राजनीतिक एकीकरण
  • स्थापत्य कला की प्रमुख विशेषताएँ- किले एवं स्मारक
  • कलाएँ, चित्रकलाएँ और हस्तशिल्प
  • राजस्थानी साहित्य की महत्त्वपूर्ण कृतियाँ, क्षेत्रीय बोलियाँ
  • मेले, त्यौहार, लोक संगीत एवं लोक नृत्य
  • राजस्थानी संस्कृति, परम्परा एवं विरासत
  • राजस्थान के धार्मिक आन्दोलन, संत एवं लोक देवता
  • महत्त्वपूर्ण पर्यटन स्थल.
  • राजस्थान के प्रमुख व्यक्तित्व.

भारत का इतिहास :

  • प्राचीनकाल एवं मध्यकाल
    • प्राचीन एवं मध्यकालीन भारत के इतिहास की प्रमुख विशेषताएँ एवं महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं
    • कला, संस्कृति, साहित्य एवं स्थापत्य
    • प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक सामाजिक व आर्थिक व्यवस्था। सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दे, प्रमुख
      आन्दोलन
  • आधुनिक काल :
    • आधुनिक भारत का इतिहास (18वीं शताब्दी के मध्य से वर्तमान तक)– प्रमुख घटनाएँ, व्यक्तित्व एवं मुद्दे
    • स्वतंत्रता संघर्ष एवं भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन विभिन्न अवस्थाएँ, इनमें देश के विभिन्न क्षेत्रों के योगदानकर्ता एवं उनका योगदान
    • 19वीं एवं 20वीं शताब्दी में सामाजिक एवं धार्मिक सुधार आन्दोलन . स्वातंत्र्योत्तर काल में राष्ट्रीय एकीकरण एवं पुनर्गठन

विश्व एवं भारत का भूगोल :

  • विश्व का भूगोल
    • प्रमुख भौतिक विशेषताएँ
    • पर्यावरणीय एवं पारिस्थितिकीय मुद्दे
    • वन्य जीव-जन्तु एवं जैव-विविधता
    • अन्तर्राष्ट्रीय जलमार्ग
    • प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र
  • भारत का भूगोल
    • प्रमुख भौतिक विशेषताएं और मुख्य भू–भौतिक विभाजन
    • कृषि एवं कृषि आधारित गतिविधियाँ
    • खनिज-लोहा, मैंगनीज, कोयला, खनिज तेल और गैस, आणविक खनिज
    • प्रमुख उद्योग एवं औद्योगिक विकास
    • परिवहन – मुख्य परिवहन मार्ग
    • प्राकृतिक संसाधन
    • पर्यावरणीय समस्याएँ तथा पारिस्थितिकीय मुददे

राजस्थान का भूगोल :

  • प्रमुख भौतिक विशेषताएं और मुख्य भू–भौतिक विभाग
  • राजस्थान के प्राकृतिक संसाधन
  • जलवायु, प्राकृतिक वनस्पति, वन, वन्य जीव-जन्तु एवं जैव-विविधता
  • प्रमुख सिंचाई परियोजनाएँ खान एवं खनिज सम्पदाएँ
  • जनसंख्या
  • प्रमुख उद्योग एवं औद्योगिक विकास की सम्भावनाएँ

भारतीय संविधान, राजनीतिक व्यवस्था एवं शासन प्रणाली

  • संवैधानिक विकास एवं भारतीय संविधान
    • भारतीय शासन अधिनियम- 1919 एवं 1935, संविधान सभा, भारतीय संविधान की प्रकृति, प्रस्तावना (उद्देश्यिका), मौलिक अधिकार, राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत, मौलिक कर्तव्य, संघीय ढांचा, संवैधानिक संशोधन, आपातकालीन प्रावधान, जनहित याचिका और न्यायिक पुनरावलोकन।
  • भारतीय राजनीतिक व्यवस्था एवं शासन
    • भारत राज्य की प्रकृति, भारत में लोकतंत्र, राज्यों का पुनर्गठन, गठबंधन सरकारें, राजनीतिक दल, राष्ट्रीय एकीकरण
    • संघीय एवं राज्य कार्यपालिका, संघीय एवं राज्य विधान मण्डल, न्यायपालिका
    • राष्ट्रपति, संसद, सर्वोच्च न्यायालय, निर्वाचन आयोग, नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक, योजना आयोग, राष्ट्रीय विकास परिषद, मुख्य सर्तकता आयुक्त, मुख्य सूचना आयुक्त, लोकपाल एवं राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग
    • स्थानीय स्वायत्त शासन एवं पंचायती राज
  • लोक नीति एवं अधिकार
    • लोक कल्याणकारी राज्य के रूप में राष्ट्रीय लोकनीति
    • विभिन्न विधिक अधिकार एवं नागरिक अधिकार-पत्र

राजस्थान की राजनीतिक एवं प्रशासनिक व्यवस्था

  • राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राज्य विधानसभा, उच्च न्यायालय, राजस्थान लोक सेवा आयोग, जिला प्रशासन, राज्य मानवाधिकार आयोग, लोकायुक्त, राज्य निर्वाचन आयोग, राज्य सूचना आयोग लोक नीति, विधिक अधिकार एवं नागरिक अधिकार-पत्र

अर्थशास्त्रीय अवधारणाएँ एवं भारतीय अर्थव्यवस्था

  • अर्थशास्त्र के मूलभूत सिद्धान्त
    • बजट निर्माण, बैंकिंग, लोक-वित्त, राष्ट्रीय आय, संवृद्धि एवं विकास का आधारभूत ज्ञान
    • लेखांकन- अवधारणा, उपकरण एवं प्रशासन में उपयोग
    • स्टॉक एक्सचेंज एवं शेयर बाजार
    • राजकोषीय एवं मौद्रिक नीतियाँ
    • सब्सिडी, लोक वितरण प्रणाली
    • ई-कॉमर्स
    • मुद्रास्फीति- अवधारणा, प्रभाव एवं नियंत्रण तंत्र
  • आर्थिक विकास एवं आयोजन
    • पंचवर्षीय योजना -लक्ष्य, रणनीति एवं उपलब्धियाँ
    • अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्र :- कृषि, उद्योग, सेवा एवं व्यापार, वर्तमान स्थिति, मुद्दे एवं पहल |• प्रमुख आर्थिक समस्याएं एवं सरकार की पहल, आर्थिक सुधार एवं उदारीकरण
  • मानव संसाधन एवं आर्थिक विकास :
    • मानव विकास सूचकांक
    • गरीबी एवं बेरोजगारी-अवधारणा, प्रकार, कारण, निदानएवं वर्तमान फ्लेगशिप योजनाएं
    • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता-कमजोर वर्गों के लिए प्रावधान

राजस्थान की अर्थव्यवस्था

  • अर्थव्यवस्था का वृहत् परिदृश्य
  • कृषि, उद्योग व सेवा क्षेत्र के प्रमुख मुद्दे
  • संवृद्धि, विकास एवं आयोजना
  • आधारभूत संरचना एवं संसाधन
  • प्रमुख विकास परियोजनायें
  • कार्यक्रम एवं योजनाएँ-अनुसूचित जाति., अनुसूचित जनजाति, पिछडा वर्ग, अल्पसंख्यकों, निःशक्तजनों, निराश्रितों, महिलाओं, बच्चों, वृद्धजनों, कृषकों एवं श्रमिकों के लिए राजकीय कल्याणकारी योजनाएँ

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

  • विज्ञान के सामान्य आधारभूत तत्व
  • इलेक्ट्रॉनिक्स, कम्प्यूटर्स, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी
  • उपग्रह एवं अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी
  • रक्षा प्रौद्योगिकी
  • नैनो-प्रौद्योगिकी
  • मानव शरीर, आहार एवं पोषण, स्वास्थ्य देखभाल
  • पर्यावरणीय एवं पारिस्थिकीय परिवर्तन एवं इनके प्रभाव जैव-विविधता,
  • जैव-प्रौद्योगिकी एवं अनुवांशिकीय-अभियांत्रिकी
  • राजस्थान के विशेष संदर्भ में कृषि-विज्ञान, उद्यान-विज्ञान, वानिकी एवं पशुपालन
  • राजस्थान में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विकास

तार्किक विवेचन एवं मानसिक योग्यता

  • तार्किक दक्षता (निगमनात्मक, आगमनात्मक, अपवर्तनात्मक)
    • कथन एवं मान्यतायें, कथन एवं तर्क, कथन एवं निष्कर्ष, कथन-कार्यवाही
    • विश्लेषणात्मक तर्कक्षमता
  • मानसिक योग्यता
    • संख्या श्रेणी, अक्षर श्रेणी, बेमेल छांटना, कूटवाचन (कोडिंग-डीकोडिंग), संबंधों, आकृतियों एवं उनके उपविभाजन से जुडी समस्याएँ
  • आधारभूत संख्यात्मक दक्षता
    • गणितीय एवं सांख्यकीय विश्लेषण का प्रारम्भिक ज्ञान
    • संख्या से जुड़ी समस्याएँ व परिमाण का क्रम, अनुपात तथा समानुपात, प्रतिशत, साधारण एवं चक्रवृद्धि ब्याज, आंकड़ों का विश्लेषण (सारणी, दण्ड-आरेख, रेखाचित्र, पाई-चार्ट)

समसामयिक घटनाएं

  • राजस्थान राज्यस्तरीय, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की प्रमुख समसामयिक घटनाएं एवं मुद्दे
  • वर्तमान में चर्चित व्यक्ति एवं स्थान
  • खेल एवं खेलकूद संबंधी गतिविधियां

RPSC RAS Mains Exam Pattern 2021

प्रारंभिक परीक्षा में अच्छे अंको से उतीर्ण होने वाले वो परीक्षार्थी मुख्य परीक्षा के लिए चयनित हो जाते है। प्रारम्भिक परीक्षा के विपरीत मुख्य परीक्षा में लघु, अतिलघुतरात्मक और निम्बधात्मक के रूप में सवाल आते है जिनका जवाब आपको संक्षेप और विस्तार में देना होता है। मुख्य परीक्षा के लिए लगभग 15 गुना अभ्यर्थियों को शामिल किया जाता है. मुख्य परीक्षा में 4 प्रश्न पत्र होते हैं. प्रत्येक पेपर के लिए 3 घंटे का समय दिया जाता है. प्रत्येक पेपर 200 अंक का होता है. सामान्य हिंदी और सामान्य अंग्रेजी का स्तरमान सीनियर सेकेंडरी स्तर का होगा. मुख्य परीक्षा देने के बाद इंटरव्यू 100 नंबर का होता है. इस प्रकार कुल 900 नंबर के आधार पर मेरिट निकलती है.

Papers Max. Marks Time
Paper 1 General Studies – 1 200 3 Hours
Paper 2 General Studies – 2 200 3 Hours
Paper 3 General Studies – 3 200 3 Hours
Paper 4 General English and Hindi 200 3 Hours

Important Links

RPSC RAS Pre Exam Syllabus & Exam Pattern (Hindi)

Click Here
RPSC RAS Pre Exam Syllabus & Exam Pattern (English)

Click Here

RPSC RAS Mains Exam Syllabus & Exam Pattern (Hindi)

Click Here
RPSC RAS Mains Exam Syllabus & Exam Pattern (English)

Click Here

Scheme RPSC RAS Mains Exam

Click Here

RPSC RAS Bharti Notification

Click Here

Official Website

Click Here

राजस्थान शैक्षिक समाचार

You cannot copy content of this page